The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

45 नेत्र चिकित्सकों को मिला कोरोना वारियर्स सम्मान,कोरोना वारियर्स ने स्वास्थ्य मंत्री से की मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट की मांग

45 नेत्र चिकित्सकों को मिला कोरोना वारियर्स सम्मान,कोरोना वारियर्स ने स्वास्थ्य मंत्री से की मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट की मांग

झारखंड ऑप्थलमोलॉजिकल सोसायटी ने वैश्विक महामारी के दौरान अग्रणी भूमिका निभाने वाले नेत्र चिकित्सकों को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ पूरे समाज को प्रेरित करने के उद्देश्य से में कोरोना वारियर्स सम्मान समारोह का आयोजन किया है। इस सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि झारखण्ड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता थे।

45 नेत्र चिकित्सकों को मिला कोरोना वारियर्स सम्मान,कोरोना वारियर्स ने स्वास्थ्य मंत्री से की मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट की मांग

इस अवसर पर डॉ. भारती कश्यप ने कोरोना वारियर्स सम्मान समारोह में अपने स्वागत भाषण में कहा कि इस वैधिक संकट के दौरान पूरी दुनिया के चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी जहां अपनी जान जोखिम में डाल कर कोरोना संक्रमित मरीजों की सेवा पिछले 2020 से कर रहे है, वहीं समाज मे ऐसे भी लोग है जिन्होंने चिकित्सको और कर्मियों पर इस महामारी में भी उनसे अभद्र व्यव्हार किया है। यह बात हम सभी की जानकारी में है कि इस कोरोना काल में देश के कई स्थानों पर डाक्टरों के साथ ज्यादती की गयी। उनपर हमले हुए और कई स्थानों पर महिला चिकित्सक भी इसकी शिकार हुई हैं फिर भी हम बिना रुके बिना थके जनसेवा में लगे रहे। इसलिए इस मंच से हम सरकार से आग्रह करते हैं कि डाक्टरों को एवं चिकित्सा संस्थानों को कानूनी संरक्षण प्रदान करने के लिए कानूनी प्रावधान लाया जाए जैसा कि देश के विभिन्न राज्यों में पहले से लागु है। साथ ही हम यह भी आग्रह करते हैं कि डाक्टर से मार पीट के आरोपियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

झारखंड ऑप्थलमोलॉजिकल सोसायटी के सचिव डॉ. बिभूति भूषण ने कोरोना वारियर्स सम्मान से सम्मानित हुए सभी नेत्र चिकित्सकों, शहीद हुए चिकित्सकगण एवं पिछली वार्षिक वर्चुअल कांफ्रेंस के गोल्ड मैडल विजेताओं का संक्षिप्त विवरण सम्मान समारोह के दौरान दिया।

कोरोना काल में अपनी जान की परवाह किये बिना निरंतर कार्य करने वाले नेत्र चिकित्सकों को सवास्थ्य मंत्री के द्वारा प्रशस्ति पत्र, मोमेंटो एवं शाल देकर सम्मानित किया गया। इस समारोह में कोरोना वॉरियर सम्मान से सम्मानित होने वाले चिकित्सक निमन्तिखित थे:- डॉ नागेंद्र पंडित, डॉ. भरत सिंह, डॉ. आशिमा रानी तिग्गा, डॉ. प्रियंका प्रियदर्शी,डॉ प्रीतीश प्रोनोय, डॉ सरवर आलम, डॉ स्मिता आनंद, डॉ तनीषा ओझा, डॉ पिंकी पाल,डॉ, नेहा शिल्पी, डॉ समरीन सरवर, डॉ सरोजिनी मुर्मू, डॉ. बिभा सिंह, डॉ कुमारी रीना सिंह, डॉ विवेक मिश्रा, डॉ शबाज़ हुसैन, डॉ. शक्तिनाथ सिंह, डॉ. पल्लवी पूर्णिमा सिंह, डॉ. आशिता ए.एस., डॉ. सुमन, डॉ पागल मुखर्जी, डॉ जयप्रकाश नरोलिया, डॉ. मृणाल सिंह, डॉ धीरेंद्र कुमार, डॉ सीमा, डॉ दीसि तिवारी, डॉ. सुचित्रा कमारी.डॉ. विजय लक्ष्मी मीणा, डॉ. रूपा एपिल.डॉ. शेजा हबीब डॉ. तरुणी कमारी.डॉ. शिरिल संदीप सवाईमान, डॉ अंताभा बंद्योपाध्याय, डॉ आंचल प्रिया, डॉ. एमडी रबीब तौहीद, डॉ अनुपमा, डॉ शुभम हर्ष को सम्मानित किया गया।

निमन्लिखित शहीद परिवारों इस समारोह में सम्मानित किया गया :- डॉ. कृष्ण मुरारी शाह, डॉ. सुजीत कुमार पाल, डॉ. चन्द्रिका किशोर ठाकुर। झारखण्ड ओफ्थल्मोलॉजिकल सोसाइटी के द्वारा आयोजित वार्षिक वर्चुअल कांफ्रेंस के मंजुल पन्त बेस्ट विडियो सत्र के विजेता डॉ. राहुल प्रसाद को गोल्ड मैडल से सम्मानित किया गया तथा डॉ. बी. एस. गुप्ता बेस्ट फ्री पेपर के लिए डॉ. बिभूति कश्यप को गोल्ड मैडल से सम्मानित किया गया। झारखण्ड ओपथल्मोलॉजिकल सोसाइटी के बार्षिक वर्चुअल कांफ्रेंस के दौरान इंद्राम्यूरल ओरेशन के लिए डॉ ललित जैन को सम्मानित किया गया। माननीय स्वास्थ्य मंत्री जी के द्वारा झारखण्ड ओफ्याल्मोलॉजिकल सोसाइटी के निवर्तमान अध्यक्ष डॉ हलीमुद्दीन को शॉल मोमेंटो के साथ सम्मानित किया गया। इस सम्मान समरोह के आमंत्रित अतिथि के रूप में झारखण्ड आई.एम.ए. के सेक्रेटरी डॉ. प्रदीप कुमार सिंह, कोषाध्यक्ष डॉ. बी. पी.कश्यप, रिम्स नेत्र विभागाध्यक्ष डॉ. राजीव गप्ता और रांची आई.एम.ए. के प्रेसिडेंट डॉ. शम्भू सिंह मौजूद थे।

स्वास्थ्य मंत्री का भाषण– झारखंड ऑप्चमोलीजिकल सोसायटी द्वारा कोरोना के इस वैधिक संकट काल में अतुलनीय भूमिका निभाई गई हैं जिसकी जितनी प्रसंशा की जाए वो कम है। आपको बता दूं कि कोरोना काल में जब मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी तो नेत्र चिकित्सकों ने आगे बढ़ कर आईसीयू और सीसीयू की जिम्मेदारी संभाली और पूरी तन्मयता और कर्तव्यनिष्ठा के साथ निभाई। जब स्ट्रोइड और ऑक्सीजन में मुक्त होने वाले दूषित पानी के कारण होने वाले ब्लैक फंगस की बीमारी आई तो आप सभी की भूमिका बढ़ गई, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की महिला बिंग की प्रेसिडेंट डॉ भारती कश्यप जी के सहयोग से हमने बेबिनार का आयोजन कर ब्लैक फंगस के इलाज के लिए विच के कई विशेषज्ञों की टीम के साथ संबंध स्थापित करते हुए इसके इलाज के लिए सूचनाओं का आदान प्रदान किया।

यही नहीं हमनें पोस्ट कोविड मरीजों के उचित सलाह और ट्रीटमेंट के लिए भी एक हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत की जिसके माध्यम से हजारों लोगों ने अपने नेत्र संबंधित बीमारियों की उचित चिकित्सीय परामर्श लिया।

अनेक फंगस के बारे में कई लोगों को डर था लोगों ने इस हेल्पलाइन नंबर से अपने सबालों की सटीक जानकारी प्राप्त की और उन्हें बेहतर सलाह के साथ ही चिकित्सा सेवा भी मुहैया कराई गई जिसके लिए मैं डॉ भारती कश्यप और पूरे नेत्र चिकित्सकों की टीम को बधाई और धन्यवाद देता हूँ।

आज आप सभी के बीच एक बहुत महत्वपूर्ण विषय को रखना चाहता हूँ, झारखंड के चिकित्सकों ने मांग किया है कि राज्य में मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट को लागू किया जाए, मैं आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि ये एक गम्भीर मामला है और हेमंत सोरेन जी की सरकार इसको लेकर पॉजिटिव हैं, देश के कुछेक राज्यों में इसे लागू किया गया है लेकिन वो ज्यादा प्रभावी नहीं हैं, हम इसको प्रभावी बनाने के लिए प्रतिबद्ध है, इसके लिए हम विधि विशेषज्ञ की राय ले रहे हैं, जल्द ही सरकार इसके प्रारूप तैयार कर इसे लागू करेगी ताकि चिकित्सकों को पूर्ण सुरक्षा मिल सके।

साथियों, राज्य में तीसरी लहर की आशंका के बीच हम अपनी व्यवस्थाओं को मजबूत करने के लिए कार्य कर रहे है, बच्चों के संक्रमण को रोकने के लिए हम चाइल्ड और मदर स्पेशलिस्ट केअर सेंटर बना रहे है पीकू और एनआईसीयू की व्यवस्था मजबूत की जा रही हैं, ऑक्सीजन की कमी न हो इसके लिए भी सरकार कार्यरत है लेकिन आप सभी से भी अनुरोध है कि तैयारी में जुट जाएं जिस तरह हमने प्रथम और दूसरी लहर में अपनी भूमिका निभाई है उसी तरह तीसरी लहर से भी जंग हमे लड़ने की आवश्यकता है। इस कोरोना काल अपने जान की परवाह नहीं करके भी मरीजों की सेवा करने वाले सभी कोरोना गॉरियर्स को मेरा सलाम, साथ ही इस संकट में जिन लोगों ने भी अपनी शहादत दी हैं उन्हें मेरी ओर से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।

THE REAL KHABAR