Saturday, April 13, 2024
spot_img
Homeझारखंडअभाविप एक करोड़ सदस्यता के साथ करेगी एक करोड़ वृक्षारोपण

अभाविप एक करोड़ सदस्यता के साथ करेगी एक करोड़ वृक्षारोपण

आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद झारखंड प्रदेश के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया,
अभाविप झारखंड प्रदेश मंत्री सोमनाथ भगत ने प्रेस वार्ता में बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारी बैठक तीन दिवसीय 27,28 एवं 29 मई 2022 को शिमला में संपन्न हुई, जिसमें देश के विभिन्न भागों से बैठक में पहुंचे प्रतिनिधियों ने अपने अपने क्षेत्र में हुए कार्यों की समीक्षा तथा आगामी वर्ष की बनाई गई योजना वृत्तपर बैठक में आए सभी प्रतिनिधियों ने सार्थक चर्चा की| इसके उपरांत अगले वर्ष की नवीन कार्य योजनाएं एवं लक्ष्य निर्धारित की गई | 03 दिनों तक चलने वाले इस मंथन में सामरिक विषयों पर विस्तार से चर्चा करने के उपरांत संरचनात्मक एवं वर्तमान शैक्षिक व्यवस्था पर भी चर्चा की गई।

ज्ञात हो कि कि अभाविप अगले वर्ष 75वें वर्ष में प्रवेश करेगी, जिसमें संगठनात्मक सुदृढीकरण की ओर विशेष जोर देते हुए

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा 04 प्रस्ताव पारित किए हैं
जिसमें पहला प्रस्ताव राज्य सरकार के राजकीय विश्वविद्यालय में अनैतिक हस्तक्षेप बंद हो।

दूसरा प्रस्ताव वर्तमान राष्ट्रीय परिदृश्य।

तीसरा प्रस्ताव छात्र केंद्रित एवं भविष्य उनमुखी राष्ट्रीय शिक्षा नीति का शीघ्र हो क्रियान्वयन।

चौथा प्रस्ताव स्वावलंबी भारत बनाने के लिए अग्रसर हो युवा।

इस वर्ष पूरे भारतवर्ष में अभाविप एक करोड़ सदस्यता का लक्ष्य रखते हुए SFD के माध्यम से एक करोड़ वृक्षारोपण पर्यावरण संरक्षण हेतु करने का लक्ष्य रखा है, जिसका पंजीयन आज 05 जून से वृक्ष मित्र के रूप में हो रहा है तथा जुलाई माह में बृहद रूप से वृक्षारोपण का कार्य किया जाएगा। वैसे कार्यकर्ता जिनका पंजीयन वृक्षमित्र के रूप में होगा उनके एवं उनकी टोली द्वारा जितने भी वृक्ष लगायें जायेंगे, उनका सम्पूर्ण देखभाल उनको करना है।

अभाविप के कार्यकर्ता स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर अखिल भारतीय स्तर पर 15 अगस्त को दो लाख गांव में राष्ट्रीय ध्वज का झंडोत्तोलन करने का निर्णय लिया है, जिसका मुख्य थीम एक गांव एक तिरंगा है। अभाविप आजादी के 75 वर्ष पर युवाओं से आह्वान करती है कि स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव पर राष्ट्र शक्ति को छात्र शक्ति के रूप में विकसित करने के लिए अग्रसर हो। परिसर संस्कृति के रूप में स्थापित करने, शिक्षा की गुणवत्ता में वृद्धि तथा देश हमें देता है सब कुछ, हमें भी कुछ देना सीखना चाहिए| इस भाव के साथ स्वयं के भविष्य निर्माण के साथ राष्ट्र की पुनः निर्माण हेतु युवाओं से आह्वान करती है कि जाति, पंथ, क्षेत्र तथा भाषा आदि संकिर्णताओं से मुक्त होकर समता ममता के भाव को सामाजिक समरसता के लिए आजीवन प्रतिबंध रहना चाहिए।

ईसाई मिशनरियों के षड़यंत्र के कारण आत्महत्या को मजबूर होने वाली छात्रा लावण्या के न्याय की लड़ाई को भी विद्यार्थी परिषद निरंतर जारी रखेगी| रचनात्मक दृष्टिकोण की दृष्टि से अभाविप सितंबर माह में सेल्फी विथ कैंपस यूनिट अभियान आरंभ कर छात्र शक्ति को भी बढ़ाकर एक लाख करने का निर्णय लिया गया है। देश की वर्तमान स्थिति को देखते हुए अभाविप ने देशभर के रक्त दान दाताओं की सूची बनाने का निर्णय लिया है।

परिषद ने आगामी बैठकों की तिथि भी तय की हुई है जिसमें कार्यसमिति की बैठक 6-7 अगस्त को उड़ीसा में होगा। अभाविप का 67 वां राष्ट्रीय अधिवेशन 24–27 नवंबर को जयपुर प्रांत में होगा।

अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री सुश्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी परिषद की यह बैठक हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण रही है, हमारा सौभाग्य था कि यह बैठक शिमला के प्रकृति की गोद में शांतिपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ, इस बैठक में पारित हुए एवं लिए गए निर्णय के क्रियान्वयन में विद्यार्थी परिषद के सभी कार्यकर्ताओं ने देश भर से आए प्रतिनिधि अपने साथ इस बैठक से बहुत कुछ सीख कर लेकर गए हैं, जो कि देश भर के शिक्षण संस्थानों में छात्र सक्रियता को नई दिशा देगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपस्थित प्रदेश मंत्री सोमनाथ भगत,प्रदेश विवि संयोजक विशाल सिंह , रांची विभाग संयोजक अनिकेत सिंह, शुभम, शशीकांत आदि मौजूद रहे।

The Real Khabar

RELATED ARTICLES

Most Popular