The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

गांव के अंतिम परिवार के अंतिम व्यक्ति तक पहुचाएंगे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा: बन्ना गुप्ता

गांव के अंतिम परिवार के अंतिम व्यक्ति तक पहुचाएंगे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा: बन्ना गुप्ता

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता जी ने आज झारखंड में पहली बार निमोनिया के बचाव हेतु पीसीवी टीकाकरण अभियान की शुरुआत की।इस अवसर पर ढाई साल की बच्ची अनन्या को पहला टीका लगाया गया बच्ची के साथ उसकी मां नेहा उपस्थित रही और टीका सहिया दीदी रंजना चौधरी ने लगाया।

गांव के अंतिम परिवार के अंतिम व्यक्ति तक पहुचाएंगे गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा: बन्ना गुप्ता

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य सरकार समिति संसाधनों में भी बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था का लाभ झारखंड की जनता को देने का प्रयास कर रही हैं, राज्य की जनता का हक हैं कि उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिले इसके लिए सरकार भी संकल्पित हैं कि सुदूर ग्रामीण इलाकों के अंतिम परिवार के अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ्य लाभ पहुंचे।

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य को स्वास्थ्य नीति के आलोक में कुछ कार्यक्रमों का स्वास्थ्य सूचकांक राष्ट्रीय औसत से आगे हैं तथा कुछ स्वास्थ्य सूचकांकों को राष्ट्रीय औसत के समकक्ष लाने का प्रयास जारी हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम समन्वय स्थापित करते हुए बेहतर कार्य कर रही हैं इसी का प्रतिफल हैं कि राज्य में शिशु मृत्यु दर प्रति हजार 34 से घटकर 29 हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत 33 हैं।यदि मातृमृत्यु दर की बात करें तो राज्य में प्रतिलाख 165 से घटकर 76 हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत 122 हैं।राज्य में सरकारी अस्पताल में सुरक्षित संस्थागत प्रसव दर 61.90% था जो बढ़कर 83% हो गया हैं।यदि प्रजनन दर की बात करें तो राज्य का प्रजनन दर 2.8% से घटकर 2.5% हो गया है जबकि राष्ट्रीय औसत दर 2.2% हैं।वहीं उन्होंने बताया कि झारखंड सरकार राज्य में बेटा बेटी को एक समान दर्जा और अधिकार देने का विचार रखती हैं जिसका परिणाम हैं कि जन्मलिंग अनुपात प्रतिहजार 910 से बढ़कर 916 हुआ है जबकि राष्ट्रीय औसत 896 हैं।

मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि राज्य भर में आज से न्यूमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन पीसीवी का शुभारंभ हुआ है, उन्होंने कहा कि निमोनिया 5 साल से कम आयु के बच्चों में रोग और मृत्यु का मुख्य कारण हैं जिससे 15% बच्चों की मृत्यु हो जाती हैं।उन्होंने बताया कि इस टीकाकरण अभियान के बाद ऐसे मामलों में भारी कमी आएगी।उन्होंने बताया कि यूनिसेफ के रिपोर्ट के अनुसार प्रतिवर्ष 40 हजार बच्चों की निमोनिया से मौत हो जाती हैं।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पीसीवी अब से पूरे राज्य में 1 साल से कम आयु के बच्चों को 6 हफ्ते, 14 हफ्ते और 9 महीने पूरा होने पर दिया जाएगा।यह टीका बहुत महंगा हैं इसलिए सरकार ने इसको आम जनों तक निःशुल्क पहुंचाने के लिए ये विशेष टीकाकरण अभियान की शुरुआत किया हैं ताकि हर बच्चों को ये टीका मिल सके, राज्य में करीब 8.50 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसमें सभी आंगनबाडी कर्मियों और सहिया दीदियों के अलावे अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया हैं।

इस अवसर पर अवर मुख्य सचिव श्री अरुण कुमार सिंह, एनएचएम के प्रबंध निदेशक श्री रविशंकर शुक्ला, मार्शल आइन्द, सिविल सर्जन रांची डॉ विनोद कुमार समेत अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

THE REAL KHABAR