The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

वॉर हीरो को व्हीलचेयर पर ले जाते दिखे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

वॉर हीरो को व्हीलचेयर पर ले जाते दिखे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

1962 के युद्ध में चुशूल घाटी पर चीनी सेना से लोहा लेना वाले भारतीय सैनिकों के सम्मान में गुरुवार को रेजान्ग ला स्मारक का उद्घाटन किया गया।  उद्घाटन के लिए लेह पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का इस दौरान अलग अंदाज देखने को मिला। वह खुद 1962 के युद्ध के हीरो ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) आरवी जाटर को व्हीलचेयर पर लेकर जाते दिखे।

ब्रिगेडियर आरवी जाटर भी उसी 13 कुमाऊं रेजिमेंट का हिस्सा थे, जिसने चीन की सेना से युद्ध लड़कर मिसाल पेश की थी। 1962 की रेजांग ला की लड़ाई की 59वीं वर्षगांठ पर भारत को एक नया पुनर्निर्मित युद्ध स्मारक मिलने जा रहा है। मेजर शैतान सिंह के नेतृत्व में 13 कुमाऊं की टुकड़ियों ने 1962 के युद्ध के दौरान चीनी सेना के कई सैनिकों को मार गिराया था।

पूर्वी लद्दाख सेक्टर में रेजांग ला वॉर मेमोरियल छोटा था और अब इसका विस्तार किया गया है। सेना की 13 कुमाऊं बटालियन की चार्ली कंपनी ने 18 नवंबर 1962 को लद्दाख में रेजांग ला दर्रे पर चीनी सैनिकों के हमले का जवाब दिया था। इन सैनिकों ने 18 नवंबर 1962 को बेहद ठंड में देश की रक्षा करने के लिए लड़ाई लड़ी थी। हथियार पुराने थे और गोलाबारूद की कमी थी। उनके कपड़े ठंड से बचने के लिए प्रभावी नहीं थे और खाना भी कम था।

THE REAL KHABAR