Saturday, April 13, 2024
spot_img
Homeझारखंडदेवघरजिले में लगातार बढ़ते संक्रमण की चैन को तोड़ने की आवश्यकता :-...

जिले में लगातार बढ़ते संक्रमण की चैन को तोड़ने की आवश्यकता :- देवघर उपायुक्त

उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्री मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में ओमिक्रोन संक्रमण के बढ़ते चैन को तोड़ने के उद्देश्य से किए जा रहे कार्यों, जिला एवं प्रखंड स्तर पर की गई व्यवस्थाओं, चल रहे टीकाकरण अभियान, मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर व अन्य स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं को दुरुस्त करने को लेकर चल रहें विभिन्न कार्यों की विस्तृत ऑनलाइन समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने जिले में बढ़ते संक्रमण के रोकथाम और बचाव को लेकर राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन, जिले मके शत प्रतिशत कोविड नियमों के अनुपालन, ज्यादा से ज्यादा कोविड टेस्टिंग की सुविधा और 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिया। साथ ही संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए नए व पुराने सदर अस्पताल, माँ ललिता हॉस्पिटल के अलावा प्रखंड स्तर तैयार सभी आइसोलेशन सेंटर को पूरी तरह से एक्टिव मोड में तैयार करने का निर्देश संबंधित वरीय अधिकारियों को दिया। वही टेक्निकल कार्यो के साथ मेडिकल उपकरणों के संचालन को लेकर संबंधित कर्मचारियों व ऑपरेटरों को नियमानुसार प्रतिनियुक्त करने का निर्देशन संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिया, ताकि आवश्यकता अनुसार लोगों को ससमय प्रतिनियुक्त किया जा सके।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने संक्रमण के रोकथाम को लेकर राज्य सरकार द्वारा जारी नियमों का कड़ाई से अनुपालन के अलावा जिला, प्रखंड और पंचायत स्तर पर एक बार फिर से मास्क जागरूकता सह अर्थदंड अभियान का आयोजन करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों व पुलिस पदाधिकारी को दिया, ताकि ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे को देखते हुए लोगों सतर्क और सुरक्षित रखा जा सके। साथ ही जिले में व्यापक स्तर पर कोविड नियमों के अनुपालन और टीकाकरण कार्य को गति देने के उद्देश्य से माइकिंग के अलावा व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने का निर्देश अधिकारियों को दिया। आगे उपायुक्त ने जिला स्तर पर संक्रमण के रोकथाम को लेकर किए जा रहे प्रबंधों की जानकारी के साथ किए जाने वाले और अभी तक पूर्ण किए जा चुके कार्यों से अवगत हुए। साथ ही उपायुक्त द्वारा बैठक के दौरान नए, पुराने सदर अस्पताल में आईसीयु, ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता, पीडियाट्रिक आइसीयू व पीएसए प्लांट निर्माण कार्यों के अलावा ऑक्सीजन सप्लाई, ऑक्सीजन सिलिंडर, बिजली व्यवस्था और उसकी उपलब्धता से अवगत हुए। वही बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिला, प्रखंड, पंचायत स्तर के अधिकारियों को निर्देश दिया कि कोरोना संक्रमण की गति एक बार फिर बढ़ गई है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर बनाए गए नियमों का कड़ाई से पालन अपने-अपने क्षेत्र में करवाएं, ताकि आने वाले दिनों में संक्रमण का प्रसार दुबारा न हो। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिले में कोविड इमरजेंसी हॉस्पिटल के व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से संबंधित अधिकारियों जमीन चिन्हित करते हुए जल्द से जल्द उपायुक्त कार्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिया। साथ ही संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए टेलीमेडिसिन की सुविधा को एक बार फिर से शुरु करने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिया।

टेलीमेडिसिन की सुविधा के अलावा कोविड नियमों के अनुपालन हेतु भोलेनाथ के दूत करेंगे लोगों को जागरूक:- उपायुक्त

वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि मंदिर के आसपास क्षेत्रों में कोविड टेस्टिंग की संख्या को बढ़ाने के अलावा कोविड नियमों के अनुपालन के साथ बिना मास्क के बाबा बैद्यनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश पूर्ण रूप से वर्जित करने का निर्देश दिया। साथ ही बैठक के दौरान उपायुक्त ने ओमिक्रोन खतरे के अलावा इससे जुड़े विभिन्न बिन्दुओं पर विस्तृत समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि कोविड वैक्सीनेशन प्लान को और भी बेहतर करते हुए शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के कार्य में तेजी लाए। आगे समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त और एक्टिव करते हुए कोविड वैक्सीनशन, टेस्टिंग के अलावा कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन को लेकर संबंधित अधिकारियों, प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचलाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों को लोगों को जागरूक करते हुए सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया।

इसके अलावे उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देशित किया कि लोगों को जागरूक करते हुए अधिक से अधिक लोगों को कोविड टीका देना सुनिश्चित करें , ताकि जल्द से जल्द शत प्रतिशत लोगों को वैक्सीनेशन कोविड का टीका लगाया जा सके। साथ ही मास्क जागरूकता सह अर्थदंड अभियान में अधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों के अलावा भोलेनाथ के दूतों का सहयोग लेने की बात उपायुक्त ने कही, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को जागरूक किया जा सके। आगे उपायुक्त ने जिले में कोविड संक्रमण के दौरान अपने परिजनों को खोने वाले परिवारों को सरकारी मुआवजा की राशि देने को लेकर किए जा रहे कार्यों को जल्द से जल्द पूर्ण करते हुए उपायुक्त कार्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिया।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, नगर आयुक्त, सिविल सर्जन, अनुमंडल पदाधिकारी देवघर व मधुपुर, निदेशक डीआरडीए, अपर समाहर्ता, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, जिला नजारत उपसमाहर्ता, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, जिला खनन पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता विशेष प्रमंडल ग्रामीण कार्य विभाग, कार्यपालक अभियंता विद्युत आपूर्तित प्रमंडल, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी, डीसी सेल के प्रतिनियुक्त अधिकारी, सभी प्रखंडो के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, डीपीएम जेएसएलपीएस, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी,अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, उपाधीक्षक सदर अस्पताल एवं चिकित्सकों की टीम, सभी थानों के थाना प्रभारी के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

THE REAL KHABAR

RELATED ARTICLES

Most Popular