The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

हेमन्त सरकार ने राज्य के मान सम्मान को पहुंचाया चोट, जनता को दिया धोखा: दीपक प्रकाश

हेमन्त सरकार ने राज्य के मान सम्मान को पहुंचाया चोट, जनता को दिया धोखा: दीपक प्रकाश

राज्य की चरमराती विधिव्यावस्था, ठप्प विकास कार्य, सरकार की वादा खिलाफी,खनिज संपदा की मची लूट, आदिवासी ,दलित समाज पर बढ़ते अत्याचार,जमीन की लूट,प्रखंड से लेकर सचिवालय तक फैले भ्रस्टाचार, बेरोजगारी की मार झेलते युवा,भयभीत बहन बेटियों की सुरक्षा के सवाल पर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने आज सड़क पर उतरकर बड़ा आन्दोलनं शुरू किया।

प्रदेश भाजपा ने किसानों के सवाल परविगत 18 जून को खेतों में धरना दिया था। आज हजारों की संख्या में कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर सभी 264 सरकारी प्रखंडों में राज्य सरकार के खिलाफ मानव श्रृंखला का निर्माण किया महामहिम राज्यपाल के नाम प्रखंड विकास पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपा

पार्टी ने सभी प्रखंडों केलिये नेता भी भेजे ।प्रदेश के सभी सांसद, विधायक,प्रदेश पदाधिकारी,नगर निकाय,ज़िला परिषद के जन प्रतिनिधि,पूर्व संसद, विधायक,प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवम अन्य वरिष्ठ नेताओं को कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में भेजा गया था।

पूरे प्रदेश में यह कार्यक्रम सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ। 264 प्रखंडों एवम तीन महानगरों,रांची,जमशेदपुर,धनबाद को मिलाकर एक लाख से अधिक कार्यकर्ताओ,ने मानव श्रृंखला बनाकर राज्य सरकार के खिलाफ विरोध का बिगुल फूंक दिया।

हेमन्त सरकार के विफलता को लेकर रांची मोरहाबादी में रांची महानगर द्वारा बनाए गए मानव श्रृंखला में प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने कड़ा हमला बोला। उन्होंने “हेमंत सरकार के, डेढ़ साल बेकार के, इरादे अधूरे, वादे न पूरे, लूट में लगी हेमंत सरकार, चारो तरफ है हाहाकार” का नारा देते हुए कहा कि राज्य में विकास कार्य ठप्प पड़ा हुआ है, पूर्ववर्ती सरकार की विकास योजनाओं को भी बंद कर दिया गया है। भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबी हेमंत सरकार में खनिज सम्पदाओं की लूट मची है, ट्रांसफर – पोस्टिंग उद्योग का रूप ले चुका है। राज्य की विधि व्यवस्था चौपट हो चुकी है। उग्रवादी घटनाओं में वृद्धि, राजभवन के चहारदीवारी तक पहुंचे उग्रवादी, राज्य के हालात ऐसे कि आम जन क्या न्यायाधीश, अधिवक्ता एवं पुलिस भी सुरक्षित नहीं हैं।

  उन्होंने कहा कि सरकार खनिज सम्पदा एवं शराब के निविदाओं के निष्पादन में अनियमितता कर, सरकारी राजस्व को चुना लगा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को बदहाल कर दिया गया, धान का बकाया अब तक नहीं मिला, मुफ्त बिजली देने एवं 2 लाख ऋण माफी का वादा ढकोसला साबित हुआ। राज्य के बेरोजगार नौजवानों के साथ धोखा किया, प्रति वर्ष 5 लाख युवाओं को नौकरी का वादा फेल, बेरोजगार नौजवानों को 5 हजार और 7 हजार रूपये बेरोजगारी भत्ता का वादा भी फेल रही है। हेमन्त सरकार नौकरी से अनुबंधकर्मियों को भी हटा रही है।

वहीं नामकुम में मानव श्रृंखला को सम्बोधित करते हुए नेता विधायक दल, बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमन्त सरकार ने
प्रवासी मजदूरों को वादा कर रोजगार धोखा दिया, लाखों के
संख्या में पुनः पलायन को मजबूर हुए। नई स्थानीय एवं नियोजन नीति बनाकर झारखंड के नौजवानों को भारी नुकसान दिया है। मेडिकल एवं तकनीकी कॉलेज बन कर तैयार है किंतु सरकार नामांकन कराने में विफल रही है।
कोरोना संकट से निपटने में राज्य सरकार पूरी तरह विफल रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र से दिए गए संसाधनों का भी समुचित उपयोग नहीं हो पाना सरकार की कार्यशैली को दर्शाता है। सरकार अनाज एवं दवा बांटने के जगह कफन बांटने में व्यस्त रही। 18 से 44 उम्र तक के लोगों को मुफ्त वेक्सीन देने के वादा से भी सरकार मुकर गई। हेमंत सरकार में आदिवासियों और दलितों पर अत्याचार में भारी बढ़ोतरी हुई है। सरकार बनते ही चाईबासा में 11 आदिवासियों की सिर काटकर हुई नृशंस हत्या, शहीद सिदो-कान्हो के वंशज रामेश्वर मुर्मू की भी हत्या हुई।

वहीं प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू ने कांके में हेमन्त सरकार को निशाने पर लेटे हुए कहा कि इस सरकार में नौजवान मांग रहे रोजगार और लाठी बरसा रही है सरकार, हेमन्त सरकार संवैधानिक संस्था को पंगु बनाने का कार्य किया है।
इन्हें नेता प्रतिपक्ष के रूप में आदिवासी मंजूर नहीं, इसलिए नहीं दे रहे हैं श्री बाबूलाल मरांडी को विपक्ष के नेता का दर्जा । राज्य का दलित एवं गरीब वर्ग परेशान। सत्ता के संरक्षण में जामताड़ा में तोड़े गए दलितों के घर किए जा रहे उनके जमीनों पर अवैध कब्जा। दलित भूखल घासी एवं अन्य परिवार की मौत पर राज्य सरकार मौन रही। सरकार के संरक्षण में बड़े पैमाने पर धर्मांतरण हो रहा है।

        महिलाओं पर अत्याचार चरम पर, 19 महीनों में 2711 बलात्कार की घटनायें हुई, जिसमें आदिवासी, दलित बहन-बेटियां सर्वाधिक शिकार हुई। भाजपा सरकार की महिला सशक्तिकरण की योजना 1 रू. में 50 लाख की सम्पत्ति की रजिस्ट्री को भी बंद कर दिया। सरकार प्रदर्शनकारी, सहायक पुलिसकर्मी, आंगनबाड़ी सेविका, पंचायत सचिव, दलपती, बनगछी, होमगार्ड जेटेट पास अभ्यार्थी, एवं बेटियों पर भी डंडे बरसा रही है ।

वहीं अनगड़ा में मानव श्रृंखला को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री प्रदीप वर्मा ने कहा कि झारखण्ड की आदिवासी बेटी दरोगा रूपा तिर्की की हत्या पर सरकार लीपापोती कर रही है। मुख्यमंत्री के चहेते कुख्यात पंकज मिश्रा के आतंक से संथालपरगना में जंगल राज की स्थिति उतपन्न हो चुका है। राज्य में विद्युत व्यवस्था चरमराई हुई है। मुख्यमंत्री का मिशनरी प्रेम सामने जगजाहिर है उन्होंने देशद्रोही आरोपी कैथोलिक पादरी फादर स्टेन स्वामी की तुलना भगवान बिरसा मुंडा से की। सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है , विरोधियों पर करा रही फर्जी मुकदमे ।

THE REAL KHABAR