Saturday, April 13, 2024
spot_img
Homeझारखंडराज्य की नीति-निर्णयों में झारखंडी भावना और जनभागीदारी की अनदेखी हो रही...

राज्य की नीति-निर्णयों में झारखंडी भावना और जनभागीदारी की अनदेखी हो रही : सुदेश कुमार महतो

रांची। आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि राज्य की नीति-निर्णयों में झारखंडी भावना और आम अवाम की भागीदारी को कोई जगह नहीं मिल रही। मानो सत्ता और सिस्टम झारखंड का मालिक बन बैठा है। जनादेश का हर मोड़ पर अपमान हो रहा और संसाधनों की चौतरफा लूट मची हुई है।

आजसू पार्टी केंद्रीय कार्यालय में सभी 24 जिलों के प्रभारी, प्रवक्ता, कोषाध्यक्ष एवं सोशल मीडिया प्रभारी के साथ बैठक के दौरान उन्होंने ये बातें कही। उन्होंने कहा कि झारखण्ड की चुनौतियां बढ़ गई है और राज्य के लोगों में हताशा निराशा के स्वर साफ सुनाई पड़ रहा हैं। यह बेहद अफसोस जनक है कि झारखंडी अपनी पहचान की तलाश में सड़कों पर आंदोलन करने को मजबूर हैं। ऐसे में झारखंड की संयोजन मानस के प्रति समर्पित आजसू पार्टी की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। हमें मजबूती से सरकार की नीति निर्णय के खिलाफ जनमत को गोलबंद करना होगा। झारखंडी भावना से जुड़ी हर आंदोलन की आवाज आज‌सू बनेगी। सवा दो साल में झामुमो कांग्रेस ने राज्य को जिस मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है वह हमारे लिए चुप बैठने का नहीं है।

उन्होंने कहा कि राज्य की मौजूदा स्थिति हमें चुप बैठने की इजाजत नहीं देता। सड़क से सदन तक हम आवाज उठाएंगे और हर जरूरी मुद्दे पर सरकार को रोकेंगे और टोकेंगे।

7 मार्च को विधानसभा घेराव

केंद्रीय अध्यक्ष ने भाषा एवं स्थानीय नीति को लेकर झारखंड में उपजे असंतोष और जनभावना के मद्देनजर सरकार के निर्णय के खिलाफ 7 मार्च को पार्टी के कार्यक्रम झारखंड विधानसभा घेराव को दमदार बनाने की वकालत की। उन्होंने सभी पदाधिकारियों से बारी-बारी से चर्चा की तथा 10 से 15 फरवरी तक सभी विधायकों एवं सांसदों से मिलकर उपर्युक्त विषय पर उनके मंतव्य को एकत्रित करने निर्देश दिया।

जनता से सीधे जुड़ें

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता जनता की हर समस्याओं पर नज़र रखें तथा उन समस्याओं के निदान के लिए शासन और प्रशासन से निवेदन करें और एक निश्चित अवधि में उन समस्याओं का निदान नहीं हो पाए तो फिर आंदोलन करें।

जनसंग्रह-धनसंग्रह अभियान को अंतिम व्यक्ति तक पहुँचाएं

पार्टी प्रमुख ने 7 फरवरी से पूरे राज्य में शुरु किए गए जनसंग्रह-धनसंग्रह अभियान को और व्यापक बनाने तथा जन-जन तक पहुँचाने को लेकर को विस्तृत चर्चा की। साथ ही सात दिनों के अंदर सभी पदाधिकारियों को हर प्रखण्ड एवं पंचायत में जाकर लोगों को इस अभियान से जोड़ने तथा इसे गति देने को कहा। यह अभियान 31 मार्च तक चलेगा।

अनुषंगी इकाई के विस्तार को लेकर दिए निर्देश

बैठक के दौरान केंद्रीय अध्यक्ष ने सभी पदाधिकारियों से अनुषंगी इकाई का गठन एवं विस्तार करने और सक्रिय सदस्यों को जोड़ने का निर्देश दिया गया।

सोशल मीडिया प्रभारी एवं प्रवक्ता को दी गयी ट्रेनिंग

इस दौरान सभी नवनियुक्त सोशल मीडिया प्रभारी एवं जिला प्रवक्ताओं के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का भी आयोजन किया गया। इसमें सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार एवं तथ्य तथा तर्क के साथ अपनी बातों को रखने की उन्हें जानकारी दी गई।

बैठक में मुख्य रूप से आजसू पार्टी के प्रधान महासचिव रामचंद्र सहिस, केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, केंद्रीय उपाध्यक्ष उमाकांत रजक, हसन अंसारी एवं कुशवाहा शिवपूजन मेहता, केंद्रीय महासचिव रोशनलाल चौधरी, केंद्रीय मुख्य प्रवक्ता डॉ. देवशरण भगत, केंद्रीय सचिव माधव चंद्र महतो, दीपक पटेल, गोपीनाथ सिंह, अजय सिंह, सतीश कुमार, मनोज चंद्रा एवं हरेलाल महतो, अनुशासन समिति के अध्यक्ष श्री सुबोध प्रसाद, केंद्रीय प्रवक्ता डॉ. विनय भूषण, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष राधेश्याम गोस्वामी, केंद्रीय कोषाध्यक्ष नंदू पटेल, महिला संगठन सचिव वर्षा गाड़ी , केंद्रीय कार्यालय सचिव बनमाली मंडल, नईम अंसारी एवं अरविंद सिंह आदि मौजूद थे।

The Real Khabar

RELATED ARTICLES

Most Popular