Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeअंतरराष्ट्रीयटेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क टाइम के 2021 'पर्सन ऑफ...

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क टाइम के 2021 ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ नाम‍ित

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क को 2021 के लिए टाइम पत्रिका के ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ के रूप में नामित किया गया है। इस वर्ष उनकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी दुनिया की सबसे मूल्यवान कार निर्माता बन गई और उनकी राकेट कंपनी सभी नागरिक चालक दल के साथ अंतरिक्ष के किनारे तक पहुंच गई। साल 2021 में भारत में सबसे ज्यादा गूगल पर सर्च किए जाने वाले शख्सियतों में दुनिया के सबसे बड़े रईस एलन मस्क पांचवें नंबर पर रहे।

टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलन मस्क को 2021 के लिए टाइम पत्रिका के ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ के रूप में नामित किया गया है। यह ऐसा वर्ष जब उनकी इलेक्ट्रिक कार कंपनी दुनिया की सबसे मूल्यवान कार निर्माता बन गई और उनकी रॉकेट कंपनी सभी नागरिक चालक दल के साथ अंतरिक्ष के किनारे तक पहुंच गई।

स्पेसएक्स के संस्थापक और सीईओ एलन मस्क ब्रेन चिप स्टार्टअप न्यूरालिंक और इंफ्रास्ट्रक्चर फर्म द बोरिंग कंपनी को भी लीड करते हैं। टेस्ला का बाजार मूल्य एक लाख करोड़ डालर से अधिक हो गया है। इस साल इसे फोर्ड मोटर और जनरल मोटर्स दोनों के संयुक्‍त रूप से अधिक मूल्यवान बना दिया है। टेस्ला हर साल हजारों कारों का उत्पादन करती है। कई युवा उपभोक्ताओं को बिजली के वाहनों की ओर स्विच करने के लिए प्रेरित किया है।

जानें एलन मस्क के बारे में

एलन मस्क का जन्म दक्षिण अफ्रीका में 28 जून 1971 को हुआ था। वे 17 साल की उम्र में कनाडा आ गए थे। मां की मदद से कनाडा की नागरिकता हासिल करते हुए वह प्रौद्योगिकी के गढ़ अमेरिका जा पहुंचे। एलन मस्‍क की कमाई के बारे में कहा जाता है क‍ि वो हर सेकेंड 67 लाख रुपये कमाते हैं। एलन मस्क की कहानी उन करोड़ों युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत है, जो अपने दम पर कुछ अलग करने के बारे में सोचते हैं।

मस्क 30 वर्ष की उम्र में राकेट खरीदने रूस पहुंच गए। रूसियों ने उनके इरादों को महत्व नहीं दिया। मस्क का ख्वाब था कि राकेट के जरिए पहले चूहों को मंगल पर बस्ती बसाने भेजना है या कुछ पौधों को। जब दूसरी बार भी रूसियों ने खाली हाथ लौटा दिया, तब लौटते वक्त हवाई जहाज में ही मस्क के मन में आया कि क्यों न खुद ही राकेट तैयार कर लिया जाए। यहां से हुई स्पेसएक्स कंपनी की शुरुआत। कदम-कदम पर अड़चनें आती रहीं। कार निर्माण में हाथ लगाया। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंसी, प्रौद्योगिकी विकास जैसे अनेक उद्यम भी चलते रहे।

THE REAL KHABAR

RELATED ARTICLES

Most Popular