Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeकोहरामराजनीतिस्थानीय सांसद जयंत सिन्हा के इशारे पर उनके कार्यकर्ता अपनी राजनीतिक लाभ...

स्थानीय सांसद जयंत सिन्हा के इशारे पर उनके कार्यकर्ता अपनी राजनीतिक लाभ के लिए हिंदू मुस्लिम के बीच विवाद कर सेक रहे राजनीति रोटी : अम्बा प्रसाद

सिरमा मामले में विधायक अंबा प्रसाद ने कहा की ‘मैं जमीनी स्तर से हर गांव का लगातार दौरा कर रही हूं । क्षेत्र में मेरी उपस्थिति 100% है । जात पात और धर्म की राजनीति करना नही सीखी । पर भाजपा सांसद और उनके कार्यकर्ता अंग्रेजों की फूट डालो राज करो नीति के सबसे बड़े अनुयायी बन गए हैं ।
बीजेपी के सांसद जयंत सिन्हा हर चुनाव धर्म और श्री राम के नाम पर वोट लेते है परंतु विदेश में बैठ के सत्ता भोग से उन्हे फुरसत नहीं है की पीड़ित परिवार का हाल लेने अपने क्षेत्र पहुंचे ।

मेरा हमेशा से प्रयास है कि समाज में नफरत नहीं फैले और कोई फिर से कानून अपने हाथ में न ले । कानून के राज में जो भी अपराध करेगा उसे सजा कानून देगी । मैं लगातार पुलिस अधीक्षक हजारीबाग एवं एसडीपीओ बड़कागांव को बचे आरोपियों की गिरफ़्तारी और तत्काल कार्रवाई के लिए बात चीत कर रही हूं । इस पूरे प्रकरण में बीजीपी और उनके बाहर के लोग आकर क्षेत्र में साम्प्रदायिक तनाव फैलाने का काम कर रहे हैं । इसमें आम जनता पिसती है जो पेट से जुड़े होते हैं जो रोज कमाते खाते हैं । इससे क्षेत्र का विकास का गति रुकता है , रोजमर्रा का जीवन प्रभावित होता है । सभी समुदाय में चाहे हिंदू हो मुस्लिम हो डर का माहौल हो जाता है ।

सिरमा की घटना में प्रशासन निष्पक्ष कार्य कर रही है । विपक्ष के लोगों को यह नहीं दिख रहा कि मामले में तुरंत कार्रवाई की गयी । परंतु लगता है बीजीपी के लोग तब तक संतुष्ट नहीं होंगे जब तक दंगे ना भड़का दें । जनता को इस साज़िश को समझने की जरुरत है । बीजेपी के लोग अगले चुनाव के लिए लोगों में फूट डालने का काम कर रहे । अंग्रेजों की फूट डालो राज करो की नीति के सबसे बड़े अनुयायी यही लोग बन गए हैं ।

राजनीतिक साज़िश में इतने गिर गए हैं बीजेपी के लोग कि एक छोटी बच्ची और उसके परिवार का दुरुपयोग कर रहे हैं । कल दिन में शांति बैठक और रक्षाबंधन के बाद रात में परिवार को भाजपा नेता के घर ले जाके बहला फुसला कर प्रलोभन देकर बयान दिलाया गया । भाजपा के लोगों को सहन नहीं हुआ कि गाँव में शांति वापस आ रही है । परिवार को बच्ची ने राखी सबके सामने हंसते मुस्कुराते सिरमा के ग्रामीणों को खुद बांधी थी । हिंदू धर्म के संस्कारों का पालन करते हुए अपने भाइयों से नेग भी लिया और अपने राखी बांधने के बाद हिंदू संस्कारों के अनुसार बड़े भाईओं के पैर छुए । भाजपा के लोग हिंदू संस्कारों के भी नहीं हैं । ये हिंदू धर्म के नहीं हैं । जो लोग भाई बहन के पवित्र त्योहार रक्षाबंधन और हिंदू संस्कारों का अपनी घिनौनी नजर से देखते हैं वो हिंदू धर्म के कभी नहीं हो सकते । भाजपा के लोगों को बड़कागाँव में स्थानीय लोगों का साथ नहीं मिल रहा तो बाहर से लोग लाकर बड़कागाँव की शांति भंग कर रहे है । ये लोग उन अपराधियों से कम नहीं हैं जो उस बच्ची को प्रताड़ित किए थे । ऐसे सभी लोगों ने हिंदू धर्म की हानि की है’।

The Real Khabar

RELATED ARTICLES

Most Popular