The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

जयपाल सिंह मुंडा के झारखंड आंदोलन के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता - देवेंद्र नाथ महतो

जयपाल सिंह मुंडा के झारखंड आंदोलन के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता – देवेंद्र नाथ महतो

झारखंड स्टेट स्टूडेंट्स यूनियन के जेपीएससी आंदोलनकारियों ने मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा के 119 वीं जयंती के मौके पर जयपाल सिंह मुंडा स्टेडियम रांची में अवस्थित प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करके माल्यार्पण किया।

मौके पर जेएसएसयू के अध्यक्ष देवेंद्र नाथ महतो ने कहा मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जयपाल सिंह मुंडा भारतीय आदिवासियों और झारखंड आंदोलन के सर्वोच्च नेता के साथ साथ वह एक प्रसिद्ध लेखक, संपादक, शिक्षाविद थे, 1925 ई0 में उन्हें ऑक्सफोर्ड ब्लू का खिताब दिया गया, साल 19928 ई0 के ओलंपिक में हॉकी के खेल में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया, जयपाल सिंह मुंडा संविधान सभा में आदिवासियों के हक अधिकार के आवाज को बुलंद तरीके से उठाया था, जयपाल सिंह मुंडा आईसीएस का नौकरी का छोड़कर अपने जीवन के अंतिम क्षण तक सामज सेवी के रूप समर्पित रहे।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जेपीएससी आन्दोलन 63 वें दिन भी झारखंड के विभिन्न क्षेत्रों से मुख्य न्यायाधीश झारखण्ड हाई कोर्ट के नाम पोस्ट कार्ड अभियान जारी है, तथा अब जेपीएससी में हो रही भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई को न्यायिक प्रक्रिया ले जाने की तैयारी में है, बहुत जल्द हाई कोर्ट में पिटीशन दाखिल किया जायेगा, जेपीएससी में हो रही गड़बड़ी से संबधित सभी साक्ष्य को झारखंड हाई कोर्ट में प्रस्तुत किया जायेगा।

THE REAL KHABAR

You cannot copy content of this page.

Contact on 7004640508