The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करते हुए बोले

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करते हुए बोले

100 करोड़ वैक्सीन डोज केवल एक आंकड़ा ही नहीं, ये देश के सामर्थ्य का प्रतिबिंब भी है। इतिहास के नए अध्याय की रचना है। ये उस नए भारत की तस्वीर है, जो कठिन लक्ष्य निर्धारित कर, उन्हें हासिल करना जानता है।

दुनिया के दूसरे बड़े देशों को वैक्सीन पर रिसर्च करने में, वैक्सीन खोजने में निपुणता थी। भारत, अधिकतर इन देशों की बनाई वैक्सीन पर ही निर्भर रहता था। लेकिन अब भारत आत्मनिर्भर हो गया है।

21 अक्टूबर को भारत ने असाधारण लक्ष्य हासिल किया है।उन्होंने कहा कि 100 करोड़ वैक्सीनेशन डोज महज एक आंकड़ा नहीं बल्कि एक नए अध्याय की शुरुआत है।पीएम मोदी ने कहा कि भारत का पूरा वैक्सीनेशन प्रोग्राम विज्ञान की कोख में जन्मा है, वैज्ञानिक आधारों पर पनपा है और वैज्ञानिक तरीकों से चारों दिशाओं में पहुंचा है।हम सभी के लिए गर्व करने की बात है कि भारत का पूरा वैक्सीनेशन प्रोग्राम, Science Born, Science Driven और Science Based रहा है।

वैक्सीनेशन के दौरान VIP कल्चर नहीं चला, सभी को एक समान वैक्सीन मिली।

वैक्सीन को लेकर तरह तरह के सवाल उठाए गए, 100 करोड़ डोज इन सबका जवाब।

देश के नाम संबोधन में बोले पीएम मोदी- स्टार्टअप्स में रिकॉर्ड निवेश हो रहे हैं।

पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें।

कोरोना से जंग में अहम मोर्चे पर देश है। दिवाली-छठ पर सतर्क रहना जरूरी है।

THE REAL KHABAR