The Real Khabar

दिखाएं हम,सिर्फ सच्ची ख़बरें

टाटा जी का दिल से सम्मान हैं, लेकिन उनके अधिकारियों ने भगवान बिरसा मुंडा का जो अपमान किया हैं उसके खिलाफ ये विरोध हैं: बन्ना गुप्ता

टाटा जी का दिल से सम्मान हैं, लेकिन उनके अधिकारियों ने भगवान बिरसा मुंडा का जो अपमान किया हैं उसके खिलाफ ये विरोध हैं: बन्ना गुप्ता

स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता जी टाटा स्टील के अधिकारियों के द्वारा स्थापना दिवस के अवसर पर किए गए भगवान बिरसा मुंडा जी के अपमान से दुखी होकर बिष्टुपुर पोस्टल पार्क में जमशेदजी नसरवानजी टाटा के प्रतिमा के पास प्रार्थना किया, उन्होंने सर्वप्रथम टाटा जी के प्रतिमा को पानी और गंगाजल से धोया, फिर पुष्प अर्पित कर नमन किया।

इसके बाद उन्होंने मुंह में काला कपड़ा बांध कर हाथ में तख्ती लिया और टाटा जी के प्रतिमा के नीचे मौन व्रत पर बैठ गए।एक घण्टा बैठने के बाद उन्होंने व्रत खत्म किया।

इसके बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि टाटा स्टील द्वारा भगवान बिरसा मुंडा जयंती पर किये गए गलतियों को सुधारने के लिए आज यहां जीवांत देवता के पास आया हूँ।

मुझे पता है कि आज जमशेद जी टाटा की आत्मा भी रो रही होगी अपने अधिकारियों के सोच पर, मुझे पता है कि अधिकारियों ने भगवान बिरसा मुंडा को क्यों भुला दिया क्योंकि उनका नाता झारखंड या भगवान बिरसा से नही हैं, सभी बाहर से आये हैं तो उन्हें भगवान बिरसा का ख्याल कैसे रहेगा?

मुझे पूरा यकीन हैं कि आज यदि वे जमशेद जी टाटा जीवित होते तो वे इन अधिकारियों के इस दुहसाहस को कभी बर्दाश्त नहीं करते, उनका जीवन हमेशा कर्मचारियों और जनता की सुविधाएं को प्राथमिकता बनाने में गुजरा तभी तो वे जीवांत देवता कहलाये।

मैं टाटा स्टील के अधिकारियों के लिए आज प्रार्थना करता हूँ कि उन्हें ईश्वर सद्बुद्धि दे और उनके पापों के लिए उन्हें माफ करें

THE REAL KHABAR